बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज, आयुर्वेदिक उपाय और देसी नुस्खे : Stop Bed Wetting In Hindi

बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज, आयुर्वेदिक उपाय और देसी नुस्खे : Stop Bed Wetting In Hindi

छोटे बच्चे भगवान का रूप होते है और एक बच्चे का होना क्या होता है वो सिर्फ एक माँ बाप ही समझ सकते है, छोटे बच्चो का कम उम्र मैं बहुत ज्यादा ख्याल रखा जाता है

क्योकि इस उम्र मैं बच्चो को बीमारियों का खतरा काफी ज्यादा रहता है। [ Bed Wetting Treatment In Hindi ]

ऐसे मैं एक ऐसी समस्या है जो बचपन मैं काफी ज्यादा बच्चो को हो जाती है वैसे तो इस समस्या से शारीरिक और मानसिक तौर पर कोई नुकसान तो नहीं है लेकिन अगर सही समय पर इसे ठीक ना किया जाये तो यह आपको हसी का पात्र बना सकती है।

Hello, I Am Hemant Jarolia And I Am The Founder Of [ JAROLIAS ]. WelCome To My Blog.

जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे है बच्चो के नींद मैं बिस्तर गिला करने या बिस्तर पर पेशाब करने की समस्या [ Bed Wetting ] के बारे मैं जो की बहुत ही आसान परेशानी है लेकिन इसका सही समय पर इलाज बहुत जरुरी है।

अगर आपके बच्चो को या किसी को भी बिस्तर गीला करने की परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है तो आज आपको सारी परेशानियों से छुटकारा मिलने वाला है क्योकि आज हम आपको,

बिस्तर पर पेशाब का इलाज[ [ Bed Wetting Treatment ] ], बिस्तर गीला के लिए घरेलू उपचार [ Bistar Gila Karne Ka Ilaj ], बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज,

आदि सभी जानकारियां देने वाले है ताकि आप घर बैठे आसानी से बिस्तर गिला करने का इलाज [ Bed Wetting Treatment ] कर सकते है और इस परेशानी से आसानी से छुटकारा पा सकते है।

Upakarma Ayurveda Ashwagandha Pure Extract

Bed Wetting Treatment IN HINDI
Bed Wetting Treatment

बिस्तर पर पेशाब का इलाज ( Bed Wetting Treatment ) [ How To Stop Bed Wetting In Hindi ] :

रात को सोते समय अगर बच्चे बिस्तर गिला करते है तो यह एक आम बात है लेकिन अगर बेड वेटिंग बिस्तर मैं पेशाब करने या बिस्तर गिला करने की समस्या [ Bed Wettig Problem In Hindi ] बार बार होने लगे तो यह एक बीमारी भी हो सकती है।

जवान लोगो के मुकाबले बच्चो का मूत्राशय काफी छोटा होता है जिसकी वजह से बच्चे ज्यादा समय तक पेशाब को रोक कर नहीं रख पाते और इसकी वजह से रात मैं नींद मैं बिस्तर गिला [ [ Bed Wetting Problem ] करने की समस्या हो जाती है।

हम मैं से कही सारे लोग ऐसे है जो अपने बच्चो की इस [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] समस्या से परेशान होकर डॉक्टर को दिखाकर बाहरी दवाइयों का सहारा लेते है लेकिन,

हम आपको बिस्तर गिला करने की समस्या या बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या का निदान [ Bed Wetting Treatment In Hindi ] घर बैठे कैसे करना है, बिस्तर पर पेशाब का इलाज, बिस्तर पर पेशाब का घरेलू उपचार आपको बताएंगे।

तो हमारे द्वारा बताई गयी बातो ( बिस्तर पर पेशाब का इलाज ) ( बिस्तर गीला होने की समस्या का इलाज ) ( Bistar Gila Karne Ki Samsya ) को ध्यान से पढियेगा और समझने की कोशिश कीजियेगा।

बिस्तर गीला करने के कारण ( Bistar Gila Karne Ke Karan ) [ Bed Wetting Problems ] :

1. अक्सर हम रात को बच्चो को सोने से पहले पानी पिलाकर सोते है लेकिन कही बार पानी की मात्रा ज्यादा होने से बच्चो मैं पेशाब अधिक बनने लगता है जिसकी वजह से रात मैं सोते समय बिस्तर गीला होने की समस्या हो जाती है।

2. कही बार किसी वजह से बच्चो की किडनी मैं या मूत्राशय मैं संक्रमण हो जाता है जिसके कारण भी नींद मैं पेशाब करने की समस्या या बिस्तर गीला करने की समस्या देखने को मिलती है। [ Bed Wetting Treatment In Hindi ]

3. छोटे बच्चो के ब्लैडर यानि की मूत्राशय मैं पेशाब को रोकने या जमा करने की क्षमता काफी कम होती है और जिसकी वजह से नींद मैं बिस्तर गीला करने [ Bistar Gila Karne ] की समस्या हो जाती है।

4. कही बार जब छोटे बच्चे बीमार हो जाते है तो हम उन्हें दवाइयां देते है और अधिक दवाइयों के सेवन से पेशाब ज्यादा बनने लग जाता है और बच्चो मैं बिस्तर गीला करने और बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या हो जाती है।

5. वयस्कों या जवान लोगो मैं शराब और कैफीन के अधिक मात्रा मैं सेवन से बार बार पेशाब आने की समस्या पैदा हो जाती है। [ Bed Wetting Treatment In Hindi ]

bed wetting treatment
[ Bistar Gila Karna – Bed Wetting Treatment ]

बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज और उपाय ( Bistar Gila Karne Ke Upay ) [ Bed Wetting Treatment In Hindi ] :

1. नींद मैं बिस्तर गीला करने से रोकने के लिए बच्चे को सोने से पहले 1 ग्राम अजवाइन का चूर्ण खिलाये या फिर अजवाइन को पानी मैं मिलाकर इस पानी के काढ़े को बच्चे को पिलाये।

अगर आप कुछ दिनों तक लगातार इस घरेलू नुस्खे का उपयोग करते है तो बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] दूर होने लगती है।

2. कही बार छोटे बच्चे ज्यादा सर्दी लगने की वजह से बिस्तर मैं पेशाब कर देते है इसीलिए इस समस्या से बचने के लिए आपको बच्चे को रोजाना सुबह – सुबह गुनगुने दूध के साथ गुड़ खिलाना चाहिए।

ताकि बच्चे को सोते समय सर्दी मैं शरीर के अंदर से गर्मी महसूस हो और बिस्तर मैं पेशाब की समस्या या बिस्तर गीला करने की समस्या [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] से बचा जा सके।

3. अगर आप आपके बच्चे का आयुर्वेदिक तरीके से बिस्तर गीला करने की समस्या का उपचार करना चाहते है तो नवजीवन रस की एक गोली रोजाना सुबह और शाम दे, कुछ दिनों बाद बिस्तर मैं पेशाब की समस्या खत्म हो [ Bed Wetting Treatment ] जाएगी।

4. जायफल को पानी के साथ घिसकर इसका एक चौथाई चम्मच एक कप गुनगुने दूध के साथ मिलाकर रोजाना सुबह और शाम बच्चे को पिलाने से बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या से राहत मिलती है।

5. कही बार हमारे गुर्दे और मूत्राशय मैं संक्रमण के कारण बच्चे और बड़े लोगो को भी बार बार पेशाब जाने या रुक रुक कर पेशाब जाने की समस्या [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] होने लगती है।

इस समस्या से बचने के लिए आपको रात को सोने से पहले करौंदा के रस को पीना चाहिए क्योकि क्रैनबेरी जूस गुर्दे और मूत्राशय मैं संक्रमण को रोकने के लिए बहुत फायदेमंद है।

6. रात को सोने से पहले 10 से 12 किशमिश पानी मैं भिगो दे और सुबह उठकर खली पेट सभी किशमिश को बच्चे को खिला दे, इस देसी उपाय से आपके बच्चे के बिस्तर मैं पेशाब की समस्या को रोकने [ Bed Wetting Treatment ] मैं मदद मिलेगी।

7. नींद मैं पेशाब करने की समस्या से परेशान बच्चे को दिन मैं 2 से 3 केले खिलने चाहिए ऐसा करने से नींद मैं पेशाब करने की समस्या नहीं होगी।

8. बिस्तर गीला करने या बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप आपके बच्चे को अखरोट खिला सकती है क्योकि अखरोट खाने से पेशाब की मात्रा कम हो जाती है। [ Bed Wetting Treatment ]

9. बिस्तर मैं पेशाब की समस्या से बचने के लिए आप दालचीनी का उपयोग भी कर सकते है क्योकि दालचीनी के प्रयोग से शरीर मैं गर्मी आती है और जिसकी वजह से नींद मैं पेशाब करने की समस्या से निजात मिल जाता है।

10. अगर आप चाहते है की आपका बच्चा रात को नींद मैं बिस्तर गिला ना करे या फिर बिस्तर मैं पेशाब ना करे तो उसके लिए आपको रोजाना एक कप ठंडे दूध मैं एक चम्मच शहद मिलाकर पिलाये।

साथ ही गुड़ और तिल का एक लड्डू खाने को दे लेकिन ध्यान रहे की गुड़ और तिल का लड्डू खाने के बाद ही बच्चे को दूध पिने को दे।

बिस्तर गीला ना करने के उपाय ( Bistar Gila Na Karne Ka Upay ) [ Bed Wetting Treatment In Hindi ] :

रात मैं बिस्तर गिला करना या बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या सिर्फ बच्चो मैं ही नहीं होती बल्कि कही बार बड़े लोगो मैं भी हो जाती है,

इसीलिए बिस्तर मैं पेशाब करने की समस्या से या बिस्तर गीला करने से बचने के लिए [ Bed Wetting Treatment ] आप सभी को कुछ बातो को ध्यान मैं रखना बहुत ही आवश्यक है।

1. बच्चो को रात को सोने से पहले ज्यादा पानी ना पिलाये हो सके तो सोने से पहले एक बार पेशाब जरूर कर ले और बड़े लोग भी इस तरीके को अपनाये।

2. आपके बच्चे को आप रात मैं सोने के 3- 4 घंटे बाद उठाकर एक बार पेशाब जरूर करवा लीजिये ताकि [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] बिस्तर पर पेशाब करने की समस्या या बिस्तर गीला ना हो।

3. अगर बच्चा बड़ा हो रहा है और फिर भी बिस्तर गिला करता है या बिस्तर पर पेशाब करता है तो आपको उसे डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए सही समय पर इलाज मिलने पर आप बिस्तर गिला करने की समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर सकते है।

4. अगर आपका बच्चा बार बार नींद मैं बिस्तर मैं पेशाब कर देता है तो आप उसे बिलकुल भी ना डाटे उसे बिलकुल भी शर्मिंदगी महसूस ना होने दे बल्कि उसे प्यार से बात करे और समझाये।

5. आपके बच्चे रात मैं जिस कमरे मैं सोते है उस कमरे मैं हलकी रोशनी रखे ताकि रात को पेशाब आने पर आपका बच्चा उठकर पेशाब जा सके ताकि बिस्तर गीला करने या बिस्तर पर पेशाब करने की समस्या [ Bistar Gila Karne Ki Samsya ] ना हो।

6. अगर आपके बच्चे को रात मैं उठकर पेशाब जाने मैं डर लगता है तो उस से बात करके उसका डर दूर करे और हो सके तो खुद रात को उठकर उसे पेशाब करवाए।

7. जब कभी भी अगर आपका बच्चा रात मैं बिस्तर गिला नहीं करता है या बिस्तर मैं पेशाब नहीं करता है तो आपको उसकी तारीफ करना चाहिए जिस से की उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा।

Wet-Stop3 Kit : Bedwetting Enuresis Alarm with Waterproof Bed Pad for Boys and Girls, Curing Bedwetting For Over 35 Years

Bed Wetting Treatment
Bed Wetting Treatment

आप सभी को [ Bistar Gila Karna Or Bistar Par Pesab] बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज, आयुर्वेदिक उपाय और देसी नुस्खे [ Bed Wetting Treatment In Hindi ] की यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताये,

और अगर आपके पास कोई सुझाव है तो हमारे साथ जरूर शेयर कीजिये ताकि हम आपकी जानकारी लोगो तक पहुंचा सके।

मैं हेमंत जारोलिया ( Hemant Jarolia ) आप सभी के लिए हर दिन सेहत ( Health ), प्रौद्योगिकी ( Technology ), यात्रा ( Travel ), सामान्य तथ्यो ( General Facts ) से जुड़ी हुई जानकारिया लेकर आता हूँ।

आशा करते है की आपको हमारे ( Jarolias ) द्वारा दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताये।

और अगर आपको हमारा ब्लॉग पसंद आया हो तो हमे Subscribe जरूर करे ताकि आगे की जानकारिया आपको समय पर मिल सके।

Leave a Reply